contractor kaise bane business ideas in hindi | How to become a contractor

contractor kaise bane business ideas in hindi

ठेकेदारी का काम काफी प्राॅफिट वाला काम है. जिसकी वजह से अनेक लोग ठेकेदार बनना चाहते हैं. पर जानकारी ना होने की वजह से ठेकेदार नहीं बन पाते हैं. यदि आप ठेकेदार बनना चाहते हैं. इस पोस्ट में हम ठेकेदार कैसे बनें? इसके लिये योग्यता, जरूरी डाक्यूमेंट, लायसेंस आदि के बारे में जानकारी दे रहे हैं.

 

यदि आपकी रूचि ठेकेदार बनने में हैं तो पोस्ट के साथ अंत तक बनें. जो व्यक्ति किसी इमारत के बनवाने या मरम्मत का काम करता है उसे ठेकेदार कहा जाता है. वैसे अन्य कई तरह के ठेकेदार भी होते हैं.Computer related new business ideas

 

ठेकेदार बनने के लिए योग्यता Qualification to become a contractor

 

किसी भी तरह के ठेकेदार बनने के लिये शिक्षित होना जरूरी है. अनपड़ व्यक्ति ठेकेदार नहीं बन सकता.
ठेकेदार लायसेंस प्राप्त करने के लिए उसे हर तरह के कंस्ट्रक्शन के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए.

जिस व्यक्ति को कंस्ट्रक्शन के बारे में जानकारी के साथ सारे कार्य करने का अच्छा अनुभव हो वह ठेकेदार बन सकता हैं.

सिविल ठेकेदार बनने के लिए सिविल में डिगी या डिप्लोमा होना जरूरी है. वे लायसेंस के लिए अप्लाई कर सकते हैं.
इसके साथ ही कंपनी रजिस्ट्रेशन, जीएसटी लेना होगा.

भारत के हर राज्य में ठेकेदारी लायसेंस प्राप्त करने के अलग-अलग नियम हैं. इसे बारे में आप राज्य सरकार की वेबसाइट पर देख सकते हैं.

यहां हम दिल्ली राज्य में डीडीए के सिविल कांट्रेक्टर बनने के लिए आवश्यक जानकारी दे रहे हैं.

 

कंपनी के रजिस्ट्रेशन व जीएसटी लेने के साथ आपको डीडीए के सीआरबी यानी कांट्रैक्टर रजिस्टडर्ड बोर्ड में रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. यह रजिस्ट्रेशन 5 साल तक मान्य होता है.

सीआरबी में रजिस्ट्रेशन होने के बाद डीडीए में एनलिस्ट होना होता है. इसकी मेम्बरशीप लिए हर साल 10 हजार रूपये देने होते हैं.
डीडीए में एनलिस्ट होने के बाद आप सिविल कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट के लिए बोली लगा सकते हैं. बोली लगाने की प्रक्रिया आजकल Online हो रही है. 49 Rupees Business Idea 2020 | Low budget startups in india

किसी भी ठेकेदार को शुरूआत में फोर ग्रेड का ठेकेदार माना जाता है. ऐसे में वह मात्र 40 हजार रूपये तक के ठेके लिए बोली लगा सकता हैं. जैसे-जैसे उसके काम का अनुभव बढ़ता जाता है ग्रेड बढ़ता जाता है.

ठेकेदार के ग्रेड  Grade of contractor

हर ठेकेदार को इसकी शुरूआत फिफथ या फोर्थ ग्रेड के ठेकेदार शुरू करनी होती है.

बेहतर काम, समय और काम अनुभव के साथ ग्रेड बढ़ते रहते हैं.

डीडीए में फिलहाल क्लास फाइव, क्लास फोर, क्लास थर्ड क्लास सेकेंड, क्लास फस्र्ट ठेकेदारों को ग्रेड होते है.

 

एक अच्छे ठेकेदार के गुण Qualities of a good contractor

 

ठेकेदार बनने के लिए तकनीकी की अच्छी नाॅलेज होनी चाहिए.

निमार्ण सं संबंधित सारी जानकारी होनी चाहिए. ताकि अपने काम को कुशलता से करवा सके.

निमार्ण संबंधित हर तरह के सुरक्षा का अच्छा ज्ञान होना चाहिए. ताकि किसी तरह की समस्या सामने ना आएं.

ठेकेदार में व्यवहार कुशल होनी चाहिए. उसकी अच्छी व्यवहार कुशलता लेबर और तकनीशियत पर अच्छा इम्प्रेशन डालता है.

अपने आपको काम को लंबा खिंचने के बजाए समय सीमा और बजट के अंदर करने का हुनर होना चाहिए.

सफल ठेकेदार बनने के कुछ जरूरी बातें Some important things to be a successful contractor

 

जो कान्ट्रैक्ट का काम आपको मिले उसे पूरी जिम्मेदारी के साथ बखूबी निभाएं.
यदि आप अपने जिम्मेदारी पर खरे नहीं उतरते हैं तो आपको मिला काम निरस्त भी हो सकता हैं.

किसी भी ठेके को प्राप्त करने के पहले और बाद उसके सारे डाक्युमेंट का अच्छे से पढ़ लें. जो बातें समझ ना आएं या अनलिगल लगे उस बारे में संबंधित अधिकारी से बात कर लें. Super easy jobs | बेहद आसान मस्ती भरे जाॅब

नियम के अनुसार मजदूरों को डेली भुगतान किया जाता है. इस बात का हमेशा ध्यान रखें.
काम शुरू करने के पहले साइट का विजिट जरूर करें ताकि आपको पता हो जाएं मटेरियल कहां डलवानी है.

फ्रेंड्स, हमें उम्मीद है ठेकेदार बनने के लिए दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी. जानकारी अच्छी लगने पर इसे लाइक शेयर व कमेंट करें. आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं अगले किसी पोस्ट में एक और नई जानकारी के साथ गुडवाय टेक केयर. (काॅपीराइट बिजनेस मंत्रा)

Share Button

Related posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.