Air Bubble Sheet Making Business / Small Scale Business

Air Bubble Sheet Business

एयर बबल शीट मेकिंग बिजनेस

Air Bubble Sheet का इस्तेमाल सामानों की पैकिंग के समय लपेटने के काम आती है. आपने देखा होगा, मोबाइल फोन, कंप्युटर स्कीन, घंडी जैसे कीमतों सामान इस तरह के बब्लस वाले प्लास्टिक शीट से कवर किये होते हैं. जिसकी वजह से ये सुरक्षित कहीं भी ले जाएं जा सकते हैं. यदि कोई सामान जमीन पर गिर भी जाए तो उसमें किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता. एयर बबल शीट मेकिंग बिजनेस पैकिंग इडस्ट्री से जुड़ा हुआ बिजनेस है. एक आकंडे के मुताबिक भारत में पैकिंग इंडस्टीज का मार्केट 11500 करोड़ से भी अधिक का है, जो सालाना 18 प्रतिशत की दर से आगे बढ़ रहा है.

 

Air Bubble Sheet Business
Business Maantra

अनेक छोटी-बड़ी कंपनियां बबल शीट तैयार कर रही है. लेकिन दिन प्रतिदिन इसकी बढ़ती मांग की वजह से इसका पूर्ति नहीं कर पा रहे है. बबल शीट की बढ़ती मांग को देखते हुए नए बिजनेस शुरू करने वालों के लिए एयर बबल शीट मेकिंग बिजनेस को शुरू करना एक अच्छा आॅप्शन है.

Air Bubble Sheet क्या है?

एयर बबल शीट पैकिंग के समय उपयोग होने वाली एक पारदर्शी प्लास्टिक की चादर होती है, जिसमें छोटे-छोटे हवा से भरे बुलबुले बने होते है. प्लास्टिक शीट पर हवा भरे होने की वजह से शीट गद्देदार हो जाती है.

एयर बबल शीट मेकिंग बिजनेस शुरू करने से पहले इसके बारे में अच्छी तरह से जान लें. प्लास्टिक के बब्लस शीट कई प्रकार के होते है. यह भिन्नता प्लास्टिक शीट में भरी गई हवा के बुलबुलों के साइज पर होता है. बुलबुलों का साइज और आकार सामान के वजन पर निर्भर करता है. एक कंप्युटर स्कीन की पैकिंग में इस्तेमाल होने वाला बब्लस शीट और मोबाइल की पैकिंग में इस्तेमाल होने वाले बब्लस शीट के बुलबुलों के साइज में अंतर होता है.

इसे भी पढ़े :-

 

Air Bubble Sheet की उपयोगिता

बबल शीट का उपयोग कीमती सामान जैसे इलेक्ट्राॅनिक, इलेक्ट्रिकल्स, दवाईयों, सर्जिकल्स आयटम, कांच के आयटम, कीमती शो पीस, मंहगें घरेलू सामान, मशीनरी, आॅटोमोबाइल, स्पेयर पाटर््स अन्य सामग्री के रैपिंग कर उसे पैकेजिंग के लिए किया जाता है ताकि शिपिंग प्रक्रियाओं के दौरान खरोंच व नुकसान से बचाया जा सके. आजकल बबल शीट का सबसे अधिक उपयोग ई काॅमर्स और उससे जुड़े बिजनेस में सामानों की पैकिजिंग के लिए किया जा रहा है. क्योंकि इस तरह के शीट वजन में हल्के होने के साथ पानी व नमी से भी बचाव करता है साथ ही इसमें किसी भी प्रकार के क्षार या एसिड का प्रभाव नहीं पड़ता है.

Air Bubble Sheet के लिए मशीनें व राॅ मटेरियल

एयर बबल शीट मेकिंग बिजनेस शुरू करने के लिए आॅटोमेटिक बबल शीट मेकिंग मशीन की आवश्यकता होती है. मशीन में ही कई सेक्सन होते है. एयर बबल शीट मेकिंग के लिए राॅ मटेरियल में लो डिनशीटी पाॅलीथीन का उपयोग किया जाता है. इससे निर्मित शीट में पानी प्रतिरोधक व वायुमंडलीय प्रतिरोधक होता है.

लो डिनशीटी पाॅलीथीन के दानो को एक्सट्रूडर के होपर में डाला जाता है. जहां दाने पिघलने लगते है और दबाव के कारण प्लास्टिक शीट में बदल जाते है. एक्सट्रूडर से प्लास्टिक को डाई की ओर ले जाया जाता है, जहां पर प्लास्टिक की लेयरस रिंग के रूप में परिवर्तित होती है यही पर बबल शीट की चैड़ाई इत्यादि माप को एडजेस किया जाता है.

डाई में दो लेयरस की मोटाई का गठन एक साथ किया जाता है. उसके बाद इन दोनों लेयरस को तीसरे सेक्टर में यानी रोल फिनिसर की ओर बढ़ाया जाता है. वैसे सामन्यता ये स्टेनलेस स्टील से निर्मित होते है इसलिए स्टेनलेस स्टील रोल भी कहा जाता है. जहां एक रोलर पर ईयर बबलस थर्मो फोरमेट तैयार होते है और दूसरी लेयर पर दबाव बढ़ने की वजह से ईयर बबलस लैमिनेट भी होते जाते है. 2 इस दौरान रोलर द्वारा बहुत सारी प्रकियाएं एक साथ होती रहती है. बबलस शीट पूरी तरह से तैयार होने के बाद कूलिंग रोलर के माध्यम से ठंडी करवायी जाती है. और इसके बाद इन्हें वाईनडर किया जाता है. इस मशीन की कीमत लगभग 25 से 40 लाख रूपए है.

इसे भी पढ़े :-

 

Air Bubble Sheet की मार्केटिंग

जैसे की मैंने पहले ही कहा है कि आजकल ई काॅमर्स कंपनी अपने सामानों की पैकिंग बबलस शीट से करते है जिससे उनके सामान खराब होने से बच जाते है. सबसे पहले अपने शहर के सभी ई काॅमर्स कंपनियों से संपर्क करें. उन्हें अपने बिजनेस के बारे में जानकारी दें. इसके अलावा इलेक्ट्राॅनिक आयटम जैसे मोबाइल, घंड़ी, मिक्सर, आयरन आदि मैन्युफेक्चरिंग कंपनी, टाॅय, बर्तन, दवा, सिरामिक, मिट्टी के आयटम, शो पीस तैयार करने वाली कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं. जहां ये बल्क में आर्डर ले सकते हैं.

इसके अलावा आप अपने शहर या आसपास के इंडस्ट्रीयल एरिया में जाकर पता कर सकते है क्योंकि और भी बहुत से सामान है जिनकी पैकिंग के लिए बब्लस प्लास्टिक शीट का इस्तेमाल किया जाता है. मूवर्स एण्ड पैकर्स कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं. इसके लिए मार्केटिग कंपनियों के सहयोग भी ले सकते हैं.

Air Bubble Sheet Business के लिए लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

भारत में एयर बबल शीट बनाने का कारोबार शुरू करने के लिए आरओसी के साथ कंपनी का पहले रजिस्ट्रेशन करना होगा, इसके साथ बिजनेस लाइसेंस व जीएसटी रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करें इसके साथ अपने ब्रांड नेम को रजिस्ट्रड कर सकते है. साथ ही राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से एनओसी लेना होगा.  (काॅपी राइट बिजनेस मंत्रा)

इसे भी पढ़े :-

99 रूपीज स्टोर शुरू करें, कमाई करें रोजाना हजारों की

 

Share Button

Related posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.