Recycling Business रिसाइक्लिंग बिजनेस : कबाड़ से चमकाएं किस्मत | कम निवेश के साथ सर्वोत्तम रीसाइक्लिंग बिजनेस

Kabad se chmkay

रिसाइक्लिंग बिजनेस (Recycling Business): कबाड़ से चमकाएं किस्मत

रिसाइक्लिंग बिजनेस (Recycling Business) यानी कबाड़ से तैयार की गई चीजों के बिजनेस पढ़ कर यह लग रहा होगा कि कबाड़ से कैसे चीजें बना कर उसका बिजनेस किया जा सकता है. रिसाइक्लिंग बिजनेस के द्वारा जोधपुर के रहने वाल रितेश लोहिया की किस्मत बदल गई. 2004 में जीरो से शुरू हुई प्रीति इंटरनेशनल कंपनी का आज 60 करोड़ं का टर्न ओवर है.

Kabad se chmkay
Business Maantra

जोधपुर राजस्थान के रहने वाले रितेश लोहिया पहले ग्रेनाइट और फिर केमीकल्स के बिजनेस में जबर्दस्त घाटे के बाद सड़क पर आ चुके थे. दिन काफी परेशानी गुजर रहे थे. उन्होंने हिम्मत नहीं हारी. खुद को उठाने के लिए नए करोबार शुरू करने की कोशिश में लगे रहे. इस बीच उन्होंने एक वेबसाइट बनायी, जिसमें हैंडीक्राप्ट आयटम की कुछ फोटो साइट पर लगा दी.

शायद उनकी किस्मत के अच्छे दिन आने वाले थे. अचानक एक दिन उन्हें हैंडीक्राप्ट चीजों के एक खरीददार का अमेरिका से फोन आया. उसने वेबसाइट पर दिखाई गई हैंडीक्राप्ट आयटम के बारे में पूछा. शुरूआती बातचीत में रितेश को उसकी बात कुछ खास जीम नहीं. बात आई गई खत्म हो गई.

अचानक एक दिन वह अमेरिकन व्यक्ति उनके घर पर पहुंच गया. उन्हें अपने सामने देखकर रितेश चैंक गए. अमेरिकन ने उन्हें वेबसाइट पर दिखाए गए आइटम के सैम्पल पीस दिखाने के लिए कहां.

इसे भी पढ़े :-

यह सुनकर रितेश का चेहरा उतर गया. रितेश ने साफ-साफ शब्दों में उनसे कहां, ‘मेरे पास फिलहाल ऐसा कोई आयटम नहीं हैं. हां, यदि आप कहें तो बनाकर दे सकता हूं.’ इस बात पर अमेरिकन को पहले गुस्सा आया, लेकिन रितेश के ईमानदारी से कहीं बातों से वह इम्पेश हो गया.

उसने उसी वक्त 25 लाख रूपए का आॅर्डर रितेश को दिया. 15 लाख एडवांस में और 10 लाख रूपए अमेरिका जाकर भेंजने की बात कहीं.

इसके बाद तो रितेश की जिंदगी ही बदल गई. 2004 से शुरू हुई रिसाइक्लिंग बिजनेस (Recycling Business) की कंपनी प्रीति इंटरनेशनल 2010 तक 10 करोड़, 2015 तक यह कंपनी 60 करोड़ की कंपनी बन गई.

रितेश ने वेबसाइट पर अपने घर पर कबाड़ से बनाएं कुछ फर्नीचर के फोटोग्राफस लगाएं थे. जिसे देख कर उस अमेरिकन को इतना पसंद आया कि वह उन चीजों की तलाश में इण्डिया चला आया था.

 

इसे भी पढ़े :-

कमर्शियल पायलट कैसे बनें लाइसेंस कैसे पाएं | How to Get a Commercial Pilot License

रितेश के कंपनी द्वारा कबाड़ से बनाएं गए आयटम आज अमेरिका ही नहीं, ब्राजील, नीदरलैंड, जर्मनी, स्पेन आदि देशों में निर्यात होते हैं. सुनकर यह ताज्जुब होगा कि उनके आयटम चीन जैसे देशों में भी काफी संख्या में निर्यात होते हैं. रितेश लोहिया की पूरी रियल स्टोरी आप इंटरनेट पढ़ सकते हैं.

रिसाइक्लिंग बिजनेस (Recycling Business) काफी फायदे वाला बिजनेस है. जिन्हें कुछ अलग करने का जुनून व कुछ क्रियेटिव करने का जज्बा है तो वे इस बिजनेस में उतर सकते है. बाजार से कबाड़ खरीद कर उनमें कुछ क्रिएशन करके कुछ डिफरेंट लुक देकर, अलग किस्म का अट्रैक्शन ला सकते हैं. कबाड़ से बनी चीजों की कीमत कई गुना अधिक मिलती है, किसी-किसी आयटम की कीमत नए चीजों के कीमत से भी कई गुणा अधिक होती हैं.

रिसाइक्लिंग से तैयार आयटम की डिमांड आजकल काफी बढ़ गई. आजकल ऐसे आयटमों का इस्तेमाल युनिक रेस्तरा, होटल, पब, होम फर्निशिंग, कारपोरेट आॅफिस में आदि जगहों में काफी पसंद किए जा रहे हैं.

इसे भी पढ़े :-

देखा गया है आज कल हर बिजनेस में कम्पिटिशन है, पर इस बिजनेस में कम्पिटिशन नाम मात्र का भी नहीं है. क्योंकि इस बिजनेस को फिलहाल गिने चुने लोग ही कर रहे हैं.

कबाड़ से बने युनिक चीजों की मार्केटिंग के लिए भी अधिक परेशान होने की जरूरत नहीं होती है. वेबसाइट और सोशल मीडिया पर पब्लिसीटी करके कुछ ही दिनों में सारी दुनिया में छा सकते हैं.

स्नैपडील, पेपरफ्राइ जैसे साइड जहां हैंडीक्राप्ट के हर तरह के आयटम की काफी डिमांड है शुरूआत में वहां से आप लाखों की कमाई कर सकते हैं.

यह बिजनेस किसी भी छोटेबड़े शहर से किया जा सकता है. इस बिजनेस को शुरू करने के लिए एक मोटी पूंजी की आवश्यकता होगी. इसका रास्ता भी आप निकाल सकते हैं. इसके लिए आप इस बिजनेस के बारे में पूरा प्रोजेक्ट बनाए. अपने शहर के किसी उत्साही बिजनेसमैन से मिलें.

उन्हें इस प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दें. पूरा प्रोजेक्ट उन्हें अच्छी तरह से समझाएं. इससे होने वाले लाभ के बारे में जानकारी दें. जिस बिजनेसमैंन को आप अपने प्रोजेक्ट को अच्छी तरह से समझ पाएंगे, उम्मीद है वे इसमें पैसा लगाने के लिए तैयार हो जाएगा.

रिसाइक्लिंग बिजनेस (Recycling Business) में अच्छी कमाई के लिए जरूरत होगी जर्बदस्ट क्रिएशन की. कबाड़ के आयटम में कुछ ऐसा बनाएं कि उसका लुक देखते ही उस पर आंखे टिक जाएं. कस्टमर उसे खररदने के लिए बेचैन हो जाएं.

इसे भी पढ़े :-

Mahila Ghar se shuru kare sadi ka Business

 

Share Button

Related posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.