एक्टिंग : हीरो बनने का जुनून पार्ट -3 

Enter TV and movie Business Maantra

How make career in acting #1How make career in acting #1

एक्टिंग: हीरो बनने का जुनून पार्ट -3

फ्रेंड्स, How make career in acting #1 की श्रृंखला के दो पार्ट पब्लिस हो चुके हैं. जिसे आप लोगों ने काफी पसंद कर रहे हैं. यह तीसरा पार्ट है. जिसमें हमने एक्टर बनने के लिए किन-किन बातों पर ध्यान देना होता है. इसकी जानकारी के साथ देश के अच्छे इंस्टीट्यूट कौन-कौन से उसके बारे में जानकारी दी है. इंस्टीट्यूट के बारे में नेट पर जानकारी लेकर एडमिशन लेकर अपने एक्टिंग के करियर को ऊंचाई पर ले जा सकते हैं.

समय का पाबंद

किसी भी आर्टिस्ट के लिए समय का पाबंद होना बहुत जरूरी है। यदि आप मेें लेट लतीफी की आदत है तो यह आपको आगे बढ़ने की बजाय पीछे ढ़केल ले जायेगी। जहां भी आपको बुलाया जाये वहा 10 मिनट पहले ही पहुंचे। इसमें आपके लिए अच्छा है और आपके पंक्चुअलिटी की शाख भी बनी रहेगी।

ड्रेसअप

एक एक्टर का ड्रेसअप फैशन के अनुकूल होने चाहिए। वर्ना वह अच्छा नहीं लगेगा। फैशन के अनुरूप पहने गए ड्रेस भले ही, बड़े डिजाइनर के पास से बने न हो लेकिन कपड़े ऐसे हो की उसमें आप अलग दिखें। खुद को अपडेट करते रहें आपने यदि एक स्टाइल बना लिया और समझ लिया कि आप पर फब्ता है तो काम नहीं चलेगा। फैशन तेजी से बदलता रहता है। उसी तरह खुद को भी अपडेट करते रहना चाहिए। कपड़े ही नहीं, हेयर स्टज्ञइल, अपने चश्में तथा अन्य एसेसीरीज का स्टाइल बदलते रहना पड़ेगा जो दूसरों को एट्रेक्ट व इम्प्रेस करने वाला हो।

ब्यूटी विथ बे्रन

यदि कोई सुंदर युवती इस क्षेत्र में आना चाहती है तो इस बातको दिमाग से निकाल दें कि सिर्फ खूबसूरती के बल पर सफलता पा लेगी। आज पहले वाला जमाना नहीं रहा। अब ब्यूटी विथ ब्रेन भी देखा जाता है। आमतलब काबलियत, मेहनत, लगन तब जाकर आपको सफलता मिल सकती है। जो लड़कियों खूबसूरती को हथियार के रूप में इस्तेमाल करती है। वह परेशानी में फंसती जाती है। क्योंकि ग्लैमर की दुनिया में खूबसूरती के बल पर आज तक कोई सफलता को छू नहीं पाया जिनके पास खूबसूरती के साथ टेलैंट और ब्रेन था वो ही सफलता की ऊंचाईयों को छू सकी है।

Read this :-

शिक्षा

ग्लैमर की दुनिया में आ रहे है तो जान लें, बिना पढ़ाई किए यहां आना आपके लिए परेशानदायक हो जायेगा। आपके पास कितनी भी काबलियत हो, पढ़ाई के बिना अधूरी रह जायेगी। आज का जमाना एजुकेशन का है। पढ़ेलिखे, लोग जब यहां मौजूद है तो बिना पढ़े लिखें कोई काम क्यों देना चाहेगा। इसके अलावा ग्लैमर की दुनिया में आमतौर पर काम अंग्रेजी में होने लगा है। जिसकी वजह से बिना पढ़े लिखें लोगों से काम लेने में दिक्कत होती है।

लोग आज विदेश से पढ़कर बाॅलीवुड की दुनिया में पहुंच रहे है। रणवीर हुड्डा, मोहित अहलावद, फरदीन खान, तुषार कपूर, नीतू चन्द्रा, दीपिका पादुकोण जैसे अधिकतर कलाकार विदेशों से बड़ी-बड़ी डिग्री हासिल करके बाॅलीवुड में आये है। यदि उनकी बराबरी करनी है तो विदेशी न ही भारतीय डिग्री तो आपके पास होनी ही चाहिए।

एक्टिंग एण्ड रोल

जैसा की शुरू में बताया जा चुका है, किसी भी फिल्म में मेन रोल (मुख्य भूमिका) के अलावा भी अनेक रोल होते है। जिन्हें आप आसानी से कर सकते है। एक्टिंग रोल को छः भागों में बांटा जा सकता है।मेन रोलकाॅमेडी रोलसाइड रोल विलेन कैरेक्टर रोल जूनियर आर्टिस्ट

जानकारी लें

जिस क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहते है। उस क्षेत्र में यदि पूरी तैयारी से जाएं तो सफलता मिलती है। यदि आप पूरी तैयारी के साथ ग्लैमर की दुनिया में नहीं पहुंचते है तो आपको सफलता हाथ नहीं लगेगी।अनेक लोगों का मानना है कि अभिनय के क्षेत्र में जाने के लिए किसी तरह की तैयारी की आवश्यकता नहीं होती है। मैं इस बात से सहमत नहीं हूं। मैं ऐसी बातों को इंकार करता हूं। क्योंकि जिस तरह से डाक्टर इंजीनियर, वकील बनने के लिए पढ़ायी करनी पड़ती है। उसी प्रकार से एक्टर बनने के लिए भी पढ़ायी पूरी करने की आवश्यकता पड़ती है। जब जाकर आप अच्छी एक्टिंग कर सकते हैं।

एक्टिंग के बारे में जानकारी लिए बिना एक्टिंग करने के लिए जाने पर असफलता मिलेगी। असफलत लोग तब शार्टकट रास्ता बनाते हैं या गलत रास्ता बनाने लगते हंै। इस क्षेत्र को बदनाम करने में लग जाते हैं। आज तक किसी सफल कलाकार ने इस क्षेत्र को कभी बदनाम नहीं किया है। मेरा भी मानना है कि जिसे कुछ नहीं मिलता है वो ही इसे बदनाम करते हैं।

क्या करें?

प्रसिद्ध डायरेक्टर बासु चटर्जी का कहना है कि किसी कलाकार के एक्टिंग की नकल कर लने या अपने गांव मोहल्ले के स्टेज पर छोटे-मोटे रोल कर लेने के बाद खुद हो बहुत बड़ा एक्टर मान कर मुंबई नहीं पहुंच जाना चाहिए। एक्टिंग एक कला है। काफी कुछ करने के बाद ही एक अच्छा एक्टर बन सकते है। यदि आपको एक्टिंग में रूचि है तो उसे अच्छी तरह से मांज लीजिए। इसके लिए प्ले ग्रूप में शामिल हो जाएं। एक्टिंग की वर्कशाप में हिस्सा लीजिए। स्टेज प्रोग्राम दीजिए। अपने आपको परखिए तब जाकर आप इस क्षेत्र में कदम बढ़ाएं। सिर्फ ग्लैमर की चकाचैंध और पैसा देखकर इस क्षेत्र में आने पर आपको न पैसा मिलेगा और न ही सफलता।

अभिनय का प्रशिक्षण

आज प्रतिस्पर्धा के युग में ग्लैमर की दुनिया में कदम रखने के पहले यदि अच्छी तरह से प्रशिक्षण ले लिया जाएं तो सफलता आपके कदमों में होगी। इस क्षेत्र में आने के इच्छुक लोगों के लिए एक्टिंग के साथ-साथ अनेक रास्ते है। जिन्हें वे चुन सकते है। फिल्म के अलावा टीवी, रेडियो, थियेटर, ड्रामा आदि में बैचलर या मास्टर डिग्री ले सकते है। स्टेज परफार्मेंस, डायरेक्शन, प्ले राइटिंग, डिजाइनिग,वर्कशाप आदि में इस बारे में पूरी जानकरी दी जाती है।

Read this :-

 

थिएटर

आपका थिएटर में भी मान सम्मान और पैसा है। बड़े-बड़े ग्रूप विदेशों में शो करने के लिए जाते है। इसके लिए हमेशा अच्छे कलाकारों की जरूरत होती है। थिएटर के कलाकारों की टीवी और फिल्म में भी अच्छी डिमांड है। कुलभूषण खरबंदा, गोविंद नामदेव, शबाना आजमी, इरफान खान, फारूख शेख, दिप्ती नवल, परेश रावल आदि थिएटर से आये हुए कलाकार है। पढ़ाई के साथ-साथ नुक्कड़ नाटक, रंगमंच आदि पर अभ्यास करके प्रतिभा को निखारा जा सकता है। मराठी, बंगला, गुजराती, हिन्दी भाषा में थिएटर किया जा सकता है।  भारत के विभिन्न शहरों में नाट्यकला को प्रशिक्षण देने वाली अनेक संस्थाएं है।

  • राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय  बटावलपुर हाउस, भगवानदास रोड, नई दिल्ली

  • रवीन्द्र भारती विश्वविद्यालय,    6/4 द्वारकानाथ टैगोर लेन, कोलकाता

  • ड्रामा विभाग, पंजाब विश्वविद्यालय पटियाला

  • भारतीय संगीत और नाट्य कला महाविद्यालय,    वाल्टेयर, विशाखापट्टनम

  • ड्रामा सिने लिंक, एम-161/1, जी.एल. हाउस    इंडियन आयल भवन के पीछे, यूसुफ सराय, नई दिल्ली-110049

एफटी आई आई

सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एफ टी आई आई – पुणे में 1960 से सिनेमा और टेलीविजन के क्षेत्र में एक्टिंग, फिल्म मेकिंग, टेलीविजन प्रोग्राम प्रोडेक्शन के प्रशिक्षण देने का कार्य कर रहा है। यह भारत ही नहीं एशिया और यूरोप में भी सेंटर आॅफ एक्सीलेंस के रूप में जाना जाता है।

यहां एडमिशन के लिए चार भागों में परीक्षा होती है। प्रथम भाग में सामान्य ज्ञान, दूसरे भाग में जनरल मेंटल, एबीलिटी, तीसरे भाग में फाइन आर्ट संबंधी प्रश्न तथा अंतिम चरण में एटिटयूट टेस्ट होता है। यह तीन भाग में पूरी होती है प्रथम पर्सनैलिटी टेस्ट, द्वितीय इंटरेस्ट टेस्ट एंव तीसरा मैकेनिकल एप्टिटयूड टेस्ट होता है। परीक्षा में चुन लिए जाने के बाद साक्षात्कार लिया जात है। इसमें उत्तीर्ण होने वाले छात्र को ही प्रवेश दिया जाता है।

अवसर

इस संस्थान से डिप्लोमा करने के बाद फिल्म में रोजगार के अवसर खुल जाते है। एक्टिंग, डायरेक्टशन, एडिटिंग, रिकार्डिग ऐसे अनेक क्षेत्रों में टेलीविजन केन्द्रो में इस संस्थान के छात्रों को उच्चपद पर नियुक्तियां मिलती हैं।

प्रमुख प्रशिक्षण संस्थाएं

  • फिल्म एण्ड टेलीविजन इंस्टीट्यूट आॅफ इंडिया  ला काॅलेज रोड पुणे – https://www.ftii.ac.in/

  • Indu Art Theatre & Film Society, Address: Indu Art Theatre & Film Society, Pearey Lal Bhawan Auditorium, Bahadur Shah Zafar Marg, ITO, New Delhi, Delhi 110002  http://iatfs.com/

  • आर्ट थिएटर, एड फिल्म सोसायटी, एलटीसी,    आडिटोरियल अपोजिट दूरदर्शन भवन,   कापरमिक्स मार्ग, मंडी हाउस, नई दिल्ली   फोन नंबर 011-55136106, 09811077227

  • एशियन एकेडमी आफ फिल्म एण्ड टेलीविजन,  मारवाह स्टूडियों कांप्लेक्स, एफवी, 14-15 फिल्म सिटी,  सेक्टर 16ए, नोएडा फोन-0120-2515254, 25152555, 25152556, इमेल- hellp@aaft.com , www.aaft.com

  • सत्यजित रे फिल्म टेलीविजन इंस्टीट्यूट,   ई एम बाई पास रोड, पंच सायर कोलकाता

    भारतीय विद्या भवन, कस्तूरबा गांधी मार्ग   फोन 011-23389449

  • नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा   बहावलपुर हाउस, भगवानदास रोड, नई दिल्ली

  • भारतीय नाट्य अकादमी – लखनऊ

  • पंजाब विश्वविद्यालय – चंडीगढ़

  • डाॅ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय – सागर

  • राजस्थान विश्वविद्यालय – जयपुर

  • मराठवाड़ा विश्वविद्यालय – औरंगाबाद

  • हैदराबाद विश्वविद्यालय – हैदराबाद

  • मैसूर विश्वविद्यालय – मैसूर

  • पांडिचेरी विश्वविद्यालय – पांडिचेरी

  • मधुराज कामराज विश्वविद्यालय – मदुरई

फ्रेंड्स, फिल्म व टीवी में रूचि रखने वालों के लिए career in acting की कटैगरी बनायी है। इसें द्वारा हम टीवी व फिल्म में प्रवेश कैसे करें इस बारे में जानकारी देंगे। इस बारे में कोई सवाल होने पर आप हमसे पूछ सकते है।. यह श्रृंखला आपको कैसी लग रही है। इस बारे में कमेंट बाक्स में जरूर लिखें। जानकारी पसंद आने पर लाइक व शेयर करें।  यदि ‘आप ‘टीवी व फिल्म में प्रवेश कैसे करें’. के बारे में पूरी जानकारी ईबुक में पाना चाहते हैं तो इस बारे में दिए गए नंबर 9039828298 पर काॅल कर जानकारी ले सकते है। ईबुक की कीमत 299/- है. आॅनलाइन पमेंट कर आप बुक को मंगवा सकते हैं। कृपया फोन आॅफिस टाइम 12 बजे से 2 बजे के बीच करें। धन्यवाद

Read this :-

बारह महिने चलने वाला बिजनेस | बनाना आसान | बेचना आसान | Business Mantra

Share Button

Related posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.