ghar se shuru kare call center Business mantra

ghar se shuru kare call center Business mantra

ghar se shuru kare call center Business mantra | काॅलसेंटर कैसे शुरू करें

स्त्री हो या पुरूष यदि आपकी आवाज अच्छी है. आपकी आवाज में आकर्षण है, उच्चारण सही है तो आप टेलीकाॅलिंग को एक बिजनेस के तौर पर अपना सकते है. टेलीकाॅलिंग का काम काॅलसेंटर द्वारा करवाया जाता है. आइए जानते है काॅलसेंटर कैसे शुरू करें.

आजकल टेलीकाॅलिंग का बिजनेस तेजी से बढ़ रहा है. कंपनियां अपने प्रोडेक्ट और सर्विस की जानकारी देने के लिए इलेक्ट्राॅनिक कम्युनिकेशन का इस्तेमाल कर रही है. इसके लिए ब्रांडेड कंपनियां अपने प्रोडेक्ट के प्रचार के लिए प्रायवेट काॅल सेंटर की मदद लेती हैं. इसके बदले में लाखों रूपए पेमेंट करती है.

काॅलसेंटर कैसे शुरू करें?

काॅलसेंटर शुरू करने के लिए आपके पास मोबाइल फोन, लेपटाॅप या कंप्यूटर और पर्याप्त जगह होना चाहिए. इसके अलावा आपके पास मोबाइल नंबरों की एक लिस्ट होनी चाहिए. यानी आपके पास भरपूर डाटा होना चाहिए, जिससे आप लोगों से संपर्क कर सकें. आपके पास ये सभी सामाग्री उपलब्ध है तो आप घर से काॅलसेंटर शुरू कर सकते हैं.

 

डाटा कैसे उपलब्ध करें?

यदि आपके पास डाटा नहीं है तो किसी ऐसी कंपनियों से संपर्क करें जो इस तरह के डाटा उपलब्ध करवाते हैं. आप स्वयं भी डाटा कलेक्ट करसकते है, इसके लिए स्कूल, काॅलेज, मेलों आदि में आने वाले लोगों से संपर्क करके उनसे भी डाटा एकत्र कर सकते है.
डाटा एकत्र करने का सबसे आसान-सा फंडा है आप कोई फ्री गेम या काॅम्पिटीसन करवाएं, जिसमें बच्चे, बुढ़े, स्त्री, पुरूष सभी शामिल हो सकें. उनसे फाॅर्म भरवाते समय उनके मोबाइल नंबर जरूर लिखवाएं. उन्हें अपने पास संभालकर रख लें.

काॅल सेंटर में वर्क कैसे करें?

आपके पास 50 हजार से 1 लाख मोबाइल डाटा है तो आप शहर के बड़े और नामी शो रूम, किराणा स्टोर, स्कूल, कोचिंग सेंटर, फाइनेंस कंपनी, बिल्डर्स आदि से संपर्क करे. आजकल पब्लिसिटी के लिए शोरूम, जनरल स्टोर, शाॅपिंग माॅल, स्कूल, कौचिंग सेंटर, मैरिज ब्यूरो, फाइनेंस कंपनी, लाइफ इंशोरेंस, बिल्डरस, हाॅबी क्लासेस वाले आदि भी अपनी कंपनी की पब्लिसिटी के लिए टेलीकाॅलिंग वालों की मदद लेते है.
इसके अलावा भी बहुत से कामों के लिए टेलीकाॅलिंग वालों की मदद ली जाती है. समय-समय पर शहर में होने वाले उत्सव, सार्वजनिक प्रोग्राम आदि के प्रसार के लिए भी इनकी मदद ली जाती है.

काॅल सेंटर से होने वाला इनकम?

फर्म या कंपनी अपने ब्रांड की पब्लिसिटी के बदले में मंथली या वार्षिक पेमेंट करती है. कई कंपनी काॅल के हिसाब से पेमेंट करती है. यानी आपने जितने लोगों को काॅल किया है और उनसे उनकी कंपनी के बारे में जानकारी दी है. उस हिसाब से पेमेंट करती है. आपने कितने लोगों को काॅल किया है, कितनी देर तक आपकी उनसे बातचीत हुई है. कितने बजे काॅल किया था बगैरह-बगैरह सबकुछ कंप्युटर या मोबाइल में रिकाॅर्ड होता है.
इसके लिए अपने मोबाइल या कंप्यूटर या लेपटाॅप में साॅफ्टवेयर डाॅउनलोड करनी होगी. यह आप मार्केट से किसी साॅफ्टवेयर वाले से खरीद सकते है. इस तरह से आप अपने घर से टेलीकाॅलिंग का काम शुरू कर सकते हैं.

इन्हें भी पढ़े :-

पब्लिसिटी और मार्केटिंग

आप अपनी पब्लिसिटी और मार्केटिंग के लिए फेसबुक, इंस्ट्राग्राम, ट्विटर, ब्लाॅग, युटियुब, ईमेल, वेबसाइट, वाट्सएप आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं. जस्ट डायल, अमेजोन, पिलपकार्ट जैसे वेबसाइट में अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं. इसके माध्यम से भी कंपनियां अक्सर लोगों से संपर्क करती है.
अपनी पब्लिसिटी के लिए आप जो कर सकते है कीजिए, क्योंकि काम आपको करना है, इससे होने वाली कमाई भी आपकी जेब में जाएगा. इसलिए किसी दूसरे के भरोसे ना रहे. शुरूआत में भाग दौड़ करनी पड़ेगी उसके बाद जैसे-जैसे आपके बारे में पता चलता जाएगा लोग स्वयं ही आपसे संपर्क करने लगेगें.
आॅनलाइन का जमाना है. इसलिए काॅलसेंटर का एक अच्छा सा वेबसाइट बनवाएं. वेबसाइट पर काॅलसेंटर के बारे में विस्तृत जानकारी हो. साथ ही काॅलसेंटर में किए जाने वाले वर्क का उल्लेख भी करें.

इन बातों का ध्यान रखें

– आपके पास भरपूर डाटा होना चाहिए.
– शहर के बड़े शो रूम जैसे कपड़े, ज्वैलरी, व्हीकल्स, इलेक्टाॅनिक शोरूम, बिल्डर, फायनेंस कंपनी, इंशोरेंस कंपनी, स्कूल आदि से लगातार संपर्क में रहे.

इन्हें भी पढ़े :

150 Business Ideas Earn Millions at Home | 150 बिजनेस आइडियाज घर बैठे लाखों कमाएं

Share Button

Related posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.