Envelope Making Business

envelope making business

Envelope Making Business

आज के इंटरनेट के युग में भी लिफाफा एक महत्वपूर्ण स्टेशनरी आइटम है. कहा जा सकता है इसकी डिमांड कभी कम नहीं होगी. लिफाफे की बढ़ती डिमांड़ को देखते हुए घर से ही लिफाफा बनाने की छोटी इकाई स्थापित कर Envelope Making Business (लिफाफे तैयार करना) को आसानी से शुरू कर सकते है. इस कार्य को घर के सभी सदस्य मिल कर शुरू कर सकते है. महिलाएं और बच्चे भी इस कार्य में सहयोग दे सकते है.

 

मार्केट विशेषज्ञों का कहना है लिफाफा (Envelope) की डिमांड अब पहले से और अधिक होने लगी है. इसकी वजह है लोग लिफाफे के इस्तेमाल के बारे में समझने लगे है. इसकी एक और वजह ई-काॅमर्स के बढ़ते प्रभाव को भी माना जा रहा है. प्लास्टिक के पेकेट पर रोक लगने से भी कागज के लिफाफे की डिमांड बढ़ गई है. लिफाफा का इस्तेमाल सिर्फ लेटर भेंजने के लिए ही नहीं किया जाता है. इसका इस्तेमाल मेडिकल स्टोर, किराना दुकान, जनरल स्टोर, सब्जी व फलों की दुकान, फूड जोन, नमकीन, मिठाई आदि पैक करने व मैगजीन भेजने आदि के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है.

लिफाफे (Envelope) की बढ़ती डिमांड़ को देखते हुए घर से ही लिफाफा बनाने की छोटी इकाई स्थापित कर Envelope Making Business इस बिजनेस को आसानी से शुरू कर सकते है. इस कार्य को घर के सभी सदस्य मिल कर शुरू कर सकते है. महिलाएं और बच्चे भी इस कार्य में सहयोग दे सकते है.

 

इसे भी पढ़े :-

Agarbatti Making Business |अगरबत्ती मेकिंग बिजनेस के लिए लोन कहां से लें

 

घर पर सफेद पेपर, ब्राउन पेपर, सिथिंटिक पेपर, रंगीन पेपर, ग्रीटिंग कार्ड के लिए लिफाफे, शगुन के लिफाफे आदि तैयार कर सकते है. इसके अलावा अच्छी प्रिटिंग क्वालिटी, मौसम प्रतिरोधी के लिफाफे की भी डिमांड है. इन्हें भी तैयार कर सकते है. चाहे तो वाटर प्रूफ लिफाफे भी बना सकते है. इसके साथ मार्केट में लेटर हैड के आकार वाले लिफाफे, मैंगजीन के लिफाफे, विंडो वाले लिफाफे, छोटे बड़े आकार के लिफाफो की भी मांग है.

लिफाफा (Envelope) बनाना बड़ा ही आसान है. जिस साइज का लिफाफा बनाना है उस साइज के फ्रेम को कागज पर रख कर उसे काट लें. इसके बाद उसके अनुसार लिफाफे को मोड़ लिया जाता है. उसी के अनुसार लेई या गोंद लगाकर इसे चिपका दें. बस तैयार हो गए लिफाफे. इसे 25, 50 या 100 की गड्डी में पैक कर मार्केट में बिकने के लिए भेंज सकते हैं.

लिफाफे के लिए सफेद कागज, ब्राउन कागज, रंगीन कागज और डिजाइनर कागज लोकल मार्केट में ही मिल जाते है. मार्केट से कागज खरीद कर जिस साइज के लिफाफे तैयार करने है उस साइज के लिफाफे काट कर तैयार कर सकते है. आप प्रिटिंग प्रेस से कटिंग कागज लाकर भी लिफाफे तैयार कर सकते है. यह साबुत कागज की तुलना में ये कागज काफी सस्ता होता है.

फ्रेश कागज के अलावा अखबारी कागज जिसे लोग रद्दी कहते है उससे भी लिफाफे तैयार किए जाते हैं. पोलिथिन के पैकेटों पर रोक लगने की वजह से सब्जी, फल, किराणा स्टोर, जनरल स्टोर, बेकरी, आईस्क्रीम पार्लर, रेस्टोरेंट, होटल, फूड काॅर्नर आदि जगहों पर अखबारी कागज के लिफाफो की डिमांड होने लगी है.

 

इसे भी पढ़े :-

 

लिफाफे की कीमत कागज की क्वालिटी और साइज पर आधारित होती है. एक किलो लिफाफे पर 20 से 50 रूपए तक की बचत हो जाती है. जितना आॅर्डर आप सप्लाई दे सकते है उतनी अधिक आपकी कमाई होगी.

Envelope Making Business (लिफाफे तैयार करना) एक प्राॅफिटेबल बिजनेस है. यह साल भर चलने वाला बिजनेस है. आप साल भर लिफाफा तैयार कर सप्लाई दे सकते हैं. लिफाफा की जितनी डिमांड है उस हिसाब से इसे निमार्ण करने वाली कंपनी काफी कम है. इसलिए इसकी डिमांड हमेशा बनी रहती है.

आजकल लिफाफा तैयार करने के लिए बड़े व छोटे साइज की आॅटोमेटिक मशीने भी आ गई है, जिसके द्वारा कम समय में काफी संख्या में लिफाफा तैयार कर सकते है.

लिफाफा मशीन की कीमत विभिन्न साइज में अलग-अलग है. यह इस बारे में अधिक जानकारी के लिए इंडिया मार्ट की वेबसाइट पर देख सकते है. इसका लिंक बिजनेस मंत्रा ब्लाॅग पर दिया गया है. ब्लाॅग का लिंक वीडियो के नीचे डिस्केप्शन में दिया गया है अच्छे आॅर्डर मिलने पर आप मशीन लगा कर और अधिक उत्पादन कर अपनी आय बढ़ा सकते हैं.

छोटे लेबल पर Envelope Making Business (लिफाफा का बिजनेस) शुरू करने पर फर्म एक्ट के तहत पार्टनरशीप लायसेंस या प्रा.कंपनी का रजिस्ट्रशन जरूर करवा लें. इसके अलावा उद्योग आधार रजिस्ट्रशन की आवश्यकता होगी. इन्हें जरूर तैयार करवा लें ताकि भविष्य में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े.

(काॅपीराइट बिजनेस मंत्रा)

 

इसे भी पढ़े :-

 

Share Button

Related posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.